नारियल से होने वाले फायदे और नुकसान को जानकर हैरान हो जाएंगे।

कच्चे और सूखे नारियल के फायदे क्या है। 

हम लोगों से सुनते आ रहे हैं कि नारियल के क्या फायदे और नुकसान हैं। हम नारियल के फायदे के बारे में, जैसे कि दिमाग तेज, शुगर कुछ हद तक कम करता है, संक्रमण, ब्रोंकाइटिस, यूरिनरी इन्फेक्शन, को कम करता है, यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से सर्जरी है।

स्वास्थ्य को ठीक रखता है 

शोध से साबित हुआ है कि जो लोग   नारियल का सेवन रोजाना करते हैं, वो नारियल का सेवन न करने वालों की तुलना में अधिक स्वस्थ होते हैं।

 ऊर्जा प्रदान करता है 

कच्चा नारियल फैट को बर्न द्वारा ऊर्जा को बढ़ाने में मदद करता है। नारियल के तेल में पाए जाने वाले ट्राइग्लिसराइड्स 24 घंटे में की जाने वाली ऊर्जा की कुल खपत को 5% तक बढ़ा देते हैं, जिससे लंबे समय तक वजन घटने की प्रक्रिया को बढ़ावा मिलता है। नारियल खाने से भूख भी कम लगती है, बिना हाइपोग्लाइसीमिया हुए।

शुगर कंट्रोल होता है

नारियल इन्सुलिन बनने में मदद करता है। इन्सुलिन की मदद से शरीर ग्लूकोज को ऊर्जा में संशोधित कर पाता है। साथ ही ब्लड ग्लूकोज का स्तर नियंत्रित रहता है। कच्चा नारियल खाने से तेजी से भोजन को पचाने में मदद मिलती है और पाचन से संबंधित लक्षणों व आंतों से जुड़ी अन्य समस्याओं के साथ लाभ होता है।] यह शरीर को फाइबर देकर पोषण और खनिज को अवशोषित करने में भी मदद करता है। इससे उल्टी और मतली की समस्या भी दूर होती है।


दिमाग तेज होता है

सूखे नारियल खाने से दिमाग शान्त होता है किसी चीज में फोकस बढाने में सहायक सिद्ध होता है


प्रतिरोधक क्षमता को बढाता हैं 


इम्यून सिस्टम के लिए नारियल बेहद ही फायदेमंद होता है। इसमें एंटीवायरल, एंटीफंगल, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-पैरासाइटिक गुण होते हैं। नारियल के तेल के इस्तेमाल करने से शरीर को वायरस और बैक्टीरिया से बचाव में मदद मिलती है। कच्चे नारियल को खाने से गंभीर बीमारियों का इलाज होता है, जैसे गले में संक्रमण, ब्रोंकाइटिस, यूरिनरी इन्फेक्शन, फीता कृमि (टैपवार्म) और अन्य बीमारियां जो सूक्ष्म जीवों से होती हैं।

कच्चा नारियल खाने से थायराइड भी स्वस्थ होता है। और साथ ही लम्बे समय से चली आ रही थकान के लक्षणों से राहत पाने में मदद मिलती है।

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से ऊर्जा है

कच्चे नारियल के प्राकृतिक ड्यूरेटिक (मूत्रवर्धक) गुण यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (यूटीआई) का इलाज करते हैं। इसको खाने से संक्रमण से छुटकारा पाने के लिए यह यूरिन का प्रवाह प्राकृतिक तरीके से सुधारने में मदद मिलती है।



 ब्लड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है 


नारियल शरीर में ब्लड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सुधारने में मदद करता है और ह्रदय की बीमारी का जोखिम कम करता है। कच्चे नारियल में मौजूद सेचुरेटेड फैट बॉडी में स्वास्थ्यवर्धक कोलेस्ट्रॉल (महान कोलेस्ट्रॉल) को बढ़ाते हैं और खराब कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करते हैं।

 इससे स्वस्थ और दांत स्वस्थ होते हैं 


रोजाना नारियल खाने से दांत और दांत स्वस्थ होते हैं। कच्चा नारियल कैल्शियम और मैगनीस को अवशोषित करने के लिए शरीर की क्षमता में सुधार करता है, जिससे हड्डियों का इलाज होता है। यह ऑस्टियोपोरोसिस को भी सुधारने में मदद करता है, एक ऐसी स्थिति जो हड्डियों को पतला व नाजुक बनाता है और हड्डियों के घनत्व को प्रभावित करती है। जिन्हें लैक्टोज असहिष्णुता है, उनके लिए ये विकल्प बहुत ही स्वस्थ है।


कच्चे और सूखे नारियल से होने वाले नुकसान 


नारियल का नारियल का पानी जहां हमें ठंडक प्रदान करता है वही नारियल का पानी कई बीमारियों को ठीक करने में भी काफी सहायक होता है। नारियल के पानी से अनेकों बीमारियाँ ठीक होती हैं। नारियल का पानी पीने वाले लोगों के बाल भी चमकदार और काले काले दिखाई देते हैं।

नारियल का पानी जहाँ हमारे स्किन में अलग सी चमक लाता है। वहाँ यह कई प्रकार की हमारी बीमारियों को ठीक करता है।
नारियल के पानी में कैलोरी कम होती हैं, लेकिन इसमें चीनी की मात्रा अधिक होती है। "अमेरिकन हार्ट असोसिएशन" के अनुसार, डाइट में ज्यादा मात्रा में चीनी से आपके वजन बढ़ने और मोटापा बढ़ने की संभावना अधिक हो सकती है। साथ ही, कुछ नारियल के पानी से बने उत्पाद जिनमें चीनी की मात्रा पाई जाती है, उनसे आपके शरीर में शुगर का स्तर बढ़ सकता है।


नारियल के पानी में फैट प्रति कप में 0.5 ग्राम कम होता है, लेकिन इसमें से अधिकांश - 0.4 ग्राम या कुल वसा सामग्री का 88 प्रतिशत - सैचुरेटेड फैट होता है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन, सैचुरेटेड फैट को कुल कैलोरी का अधिकतम 5 प्रतिशत से 6 प्रतिशत तक लेने का ही सुझाव देती है। 2,000 कैलोरी प्रति दिन लेते समय सैचुरेटेड फैट लगभग 11 से 13 ग्राम तक होता है। जबकि नारियल पानी आपको 3 से 4 प्रतिशत कुल सैचुरेटेड वसा प्रदान करता है, एक तरह से यह मात्रा बहुत अधिक है। उच्च मात्रा में आहार लेने से आपको वजन कम करने में मुश्किलें पैदा हो सकती है, साथ ही ह्रदय की बीमारी और स्ट्रोक का जोखिम भी बढ़ सकता है


आइए जानते हैं नारियल का पानी किन किन बीमारियों को ठीक करता है


मलेरिया ,डेंगू, चिकुनगुनिया ,हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां नारियल का पानी पीने से ठीक होती हैं।

नारियल का पानी पीने से हमारे शरीर का बढ़ा हुआ वजन कम हो जाता है। यह हमारे शरीर के वजन को संतुलन में रखता है।

नारियल का पानी पीने से सिर में दर्द और डिप्रेशन जैसी बीमारियां भी ठीक हो जाती हैं।

नारियल का पानी पीने से हमारे शरीर में उठे कोलेस्ट्रोल को भी कम हो जाता है।

नारियल का पानी हमारे लिए बहुत ही गुणकारी है। हमें इसे निश्चित करना चाहिए। जतन यह हमारी शारीरिक सुंदरता को बढ़ाता है वही यह हमें अनेकों बीमारियों से हमारी रक्षा करता है।

टिप्पणी पोस्ट करें

2 टिप्पणियां

please do not enter any spam link in the Comment box.